रक्त दान महा दान

यदि आप को किसी भी समय किसी रक्तदान करने के इच्छुक लोगो की आवश्यकता है तो निम्न मो नम्बरों से संपर्क करे आपकी हर संभव मदद की जायेगी /यदि आप रक्त दान के इच्छुक है तब भी इस ब्लॉग के टिप्पणी में जा कर आपना मो न व् नाम छोड़े तांकि आवश्यक पड़ने पर आपसे संपर्क किया जा सके व् आपका नाम रक्त दान को तत्पर लोगों में लिखा जा सके
रक्त दान को तत्पर :-
हरप्रीत सिंह ...........09793869893शाहजहांपुर( उ प्र ) रमेश चन्द्र ...........09450421396शाहजहांपुर( उ प्र )


मलकीत सिंह ..........09918826316शाहजहांपुर( उ प्र ) राजेंद्र मीना(sbi ) ............ 09265031315 पटियाला पंजाब



लिखिए अपनी भाषा में

मंगलवार, 19 जून 2012

सोन परी हिय मोद भरे !


चित्र से काव्य प्रतियोगिता अंक -१५ (OBO)
--------------------------------------------


बिटिया रानी खिली कली सी
सागर चीरे- परी सी आई
बांह पसारे स्वागत करती
जन मन जीते प्यार सिखाई !
--------------------------------
कदम बढ़ाओ तुम भी आओ
धरती अम्बर प्रकृति कहे
गोद उठा लो भेद भाव खो
सोन परी हिय मोद भरे !
--------------------------------------
हहर-हहर मन ज्वार सरीखा
चन्दा को अपनाने दौड़ा
कहीं न मुड़ जाए  'पूनमसा
नैन हिया भर सीपी -मोती पाने दौड़ा !
----------------------------------------
बिना कल्पना ,बिन प्रतिभा के
लक्ष्मी कहाँ रूठ ना जाए
आओ प्यारे फूल बिछा दें
चरण 'देविके नेह लुटाएं !
---------------------------------
ये अद्भुत मुस्कान- धरा की
दर्द व्यथा कल से हर लेगी
सोन चिरइया -नदी दूध की
कल्प-वृक्ष बन वांछित फल  देगी !
----------------------------------------
सुरेन्द्र कुमार शुक्ल 'भ्रमर ५ '
कुल्लू यच पी १९.६.२०१२

7 टिप्‍पणियां:

  1. आदरणीय धीरेन्द्र जी आभार आप का प्रोत्साहन हेतु ..आइये बेटियों के स्वागत का मार्ग प्रशस्त करते बढे चलें ...
    भ्रमर ५

    उत्तर देंहटाएं
  2. बेटियों के मन को समझाती सुंदर रचना ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बिटिया रानी खिली कली सी
    सागर चीरे- परी सी आई
    बांह पसारे स्वागत करती
    जन मन जीते प्यार सिखाई !

    kash ki bitiyaa rani kali si khil paye ...!!

    उत्तर देंहटाएं
  4. आदरणीया आशा जोगलेकर जी बेटियों के सम्मान में लिखी ये रचना आप की ह्रदय को छू सकी सुन ख़ुशी हुयी
    रक्षा बंधन की हार्दिक बधाई आप सपरिवार तथा मित्र मण्डली को भी ...
    भ्रमर ५
    बाल झरोखा सत्यम की दुनिया

    उत्तर देंहटाएं
  5. आदरणीया हरकीरत जी ...बिलकुल सच कहा आप ने थोडा ज्यादती तो हो ही रही है बेटियों के साथ उसे ही तो बचाना है जागरूकता फैलाना है ...आती तो खिली कलि सी ही हैं काश हम उनका लालन पालन प्यार से करें सदा खिलें पुष्प सी ,,,,,,,,,बेटियों के सम्मान में लिखी ये रचना आप की ह्रदय को छू सकी सुन ख़ुशी हुयी
    रक्षा बंधन की हार्दिक बधाई आप सपरिवार तथा मित्र मण्डली को भी ...
    भ्रमर ५
    बाल झरोखा सत्यम की दुनिया

    उत्तर देंहटाएं
  6. सुरेंद्र जी बहुत ही सुन्दर पंक्तियां है। बहुत ही खूबसूरत तरीके से आपने बेटियों के प्यार को संजोया है आप ऐसी ही खूबसूरत कविताएं हिंदी में बहुत ही आसान तरीके से शब्दनगरी पर भी लिख सकते हैं वहां पर भी बेटियां जैसी रचनाएं आप पढ़ व लिख सकते हैं।

    उत्तर देंहटाएं