रक्त दान महा दान

यदि आप को किसी भी समय किसी रक्तदान करने के इच्छुक लोगो की आवश्यकता है तो निम्न मो नम्बरों से संपर्क करे आपकी हर संभव मदद की जायेगी /यदि आप रक्त दान के इच्छुक है तब भी इस ब्लॉग के टिप्पणी में जा कर आपना मो न व् नाम छोड़े तांकि आवश्यक पड़ने पर आपसे संपर्क किया जा सके व् आपका नाम रक्त दान को तत्पर लोगों में लिखा जा सके
रक्त दान को तत्पर :-
हरप्रीत सिंह ...........09793869893शाहजहांपुर( उ प्र ) रमेश चन्द्र ...........09450421396शाहजहांपुर( उ प्र )


मलकीत सिंह ..........09918826316शाहजहांपुर( उ प्र ) राजेंद्र मीना(sbi ) ............ 09265031315 पटियाला पंजाब



लिखिए अपनी भाषा में

रविवार, 6 नवंबर 2011

वो मेरे घर की ऊँची दीवारे ,

#################
बचपन से ही लगीं मुझको एक बंधन सी 
वो मेरे घर की ऊँची दीवारे ,
ऊँचा कूदता ,फिर भी न देख पाता उनके पर 
कोसता उन्हें क्यों बनाई गईं
वो मेरे घर की ऊँची दीवारे ,
पढ़ा लिखा बढ़ा उन्ही को कोसता
तो कभी बनाने वालों को ,क्यों बनाई
वो मेरे घर की ऊँची दीवारे ,
बंध गया एक रोज़ उन्ही दीवारों में ब्याह के बंधन
बसाने को नई दुनिया ,गृहस्थी ,अब देने लगीं है सुकून मुझे भी
वो मेरे घर की ऊँची दीवारे ,
समय बदला एक और करवट ,जब से जन्म लेके आई मेरी बेटी
अब तो लगने लगी है बहुत छोटी मुझे
वो मेरे घर की ऊँची दीवारे ,...................

6 टिप्‍पणियां:

  1. प्रिय मलकीत सिंह जी बहुत सुन्दर प्रयास और सराहनीय कोशिश आप की इस विषय पर ..सच में जब तक इस देश में बेटी बहन नारियों का सम्मान नहीं होगा ..उनके आगे की संतति के सुधरने को हम कैसे सोच सकते हैं ...आप का आमन्त्रण मिला था ..व्यस्तता बहुत है हाजिरी बहुत ही कम हर जगह लग पाती है फिर भी आप चाहेंगे तो अवश्य कभी कभी .... ....जय श्री राधे ..आप का स्वागत है आइये बाल झरोखा सत्यम की दुनिया व् अन्य पर भी
    शुक्ल भ्रमर ५

    उत्तर देंहटाएं
  2. आदरनीय भ्रमर जी ,आपसे सकारात्मक सहयोग व् मार्गदर्शन की हमेशा आवश्यकता रहेगी

    उत्तर देंहटाएं
  3. समय बदला एक और करवट ,जब से जन्म लेके आई मेरी बेटी
    अब तो लगने लगी है बहुत छोटी मुझे
    वो मेरे घर की ऊँची दीवारे ,...................
    bhut achcha jeet ji pr ab betiyan bhi khud ko taiyar kr rhi hain apne ko taki vo hr halat ko tackle kr ske.

    उत्तर देंहटाएं
  4. आदरनीय ,उर्जावान टिप्पणी के लिए आभार

    उत्तर देंहटाएं
  5. प्रिय मलकीत भाई बहुत हर्ष हुआ आप से प्रेम की बातें सुनकर .हम भी आते रहेंगे नहीं कुछ संभव होगा तो आप का सार्थक प्रयास देखते पढ़ते उसका उपयोग तो करेगे ही ..आभार आप का ..तकनीकी समस्या बहुत होती है आज कल तो जागरण जंक्शन भी बड़ी देर से ही खुल पा रहा--- वहां भी मिलते रहिये ..
    निशा महाराणा जी ने जो कहा ये सच हो शुभ कामनाये बेटियाँ खुद को तैयार करें आत्म निर्भर बनें बहुत सुन्दर हो जाये ...

    भ्रमर ५

    उत्तर देंहटाएं
  6. मलकीत सिंह जी,आपके इस प्रयास में मेरा पूरा सहयोग है,...

    उत्तर देंहटाएं